शुक्रवार, 1 अक्तूबर 2021

अनूठा रहस्य प्रकृति का...





 रात भर जागकर हरसिंगार वृक्ष 

उसकी सख्त डालियों से लगे

नरम नाजुक पुष्पों की  करता रखवाली

कि

नरम नाजुक से पुष्प 

सहला देते सख्त वृक्ष के भीतर

सुकोमल भावों को...

अनूठा रहस्य है प्रकृति का!

6 टिप्‍पणियां:

  1. अपनत्व का स्पर्श कठोर हृदय को भी पिघला देता है
    बहुत सुन्दर

    जवाब देंहटाएं
  2. आपकी लिखी रचना "सांध्य दैनिक मुखरित मौन  में" आज शुक्रवार 01 अक्टूबर  2021 शाम 3.00 बजे साझा की गई है....  "सांध्य दैनिक मुखरित मौन  में" पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  3. Very well written and also well formatted, Will start following your blog. Great article indeed. Very helpful. will surely recommend this to my friends. Free me Download krein: Mahadev Photo | महादेव फोटो

    जवाब देंहटाएं