गुरुवार, 17 मार्च 2011

असर तो है ...............




खेतों में सरसों का रंग और चटक हुआ
लहराया मेरा आँचल चुनरी का कसूमल

गालों के भंवर मुस्कुराते रहे गुलाबी
रंगत चेहरे की हुई और सुर्ख रतनारी

कदम नापते रहे दूरियां आसमानी
रंग सुनहरा बिखेरती रही चांदनी

सिलबट्टे पर चढ़ी रही मेहंदी हरियाई
चक्की में पिसता रहा मक्का पीतवर्णी

साबुनी- झाग भरे हाथ
झिलमिलाते रहे इन्द्रधनुषी

सिंक में बर्तनों की खडखडाहट
बन गयी गीत फागुनी


खड़े रहे ....हाथ बान्धे ....
सर झुका ....कतारबद्ध
रंग सारे आबनूसी ...

दुआओं में उसकी
असर तो है ....!!



**********************************************************************************


नोट ....कविता में लय , तुकांत , बहर, कुछ मत ढूंढें ...नहीं मिलेगा .....गौतम राजरिशी जी के ब्लॉग पर टिप्पणी करते हुए आये कुछ खयाल ...बस ऐसे ही लिख दिए ....
चित्र गूगल से साभार

एक पुरानी पोस्ट ज्ञानवाणी से

54 टिप्‍पणियां:

  1. कुदरत के रंग जीवन के संग
    होली में हो जाए कुछ हुडदंग :)


    होली की सपरिवार रंगारंग शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  2. सिंक में बर्तनों की खड़खड़ाहट
    बन गयी गीत फ़ागुनी

    अच्छी रंग बिरंगी कविता
    होली का आगाज

    आभार

    उत्तर देंहटाएं
  3. रंग बिरंगी कविता
    बहुत खूब, लाजबाब !

    उत्तर देंहटाएं
  4. बासंती बयार फागुनी रंग कहाँ से रहे तुकबंद .... इन्द्रधनुषी मन बस हवाओं की तरह बहता इतराता नज़र आ रहा है....

    उत्तर देंहटाएं
  5. होली की सपरिवार रंगविरंगी शुभकामनाएं |
    कई दिनों व्यस्त होने के कारण  ब्लॉग पर नहीं आ सका

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपको होली पर्व की हार्दिक शुभकामनायें ....बहुत सुंदर रंगों से सजी कविता , होली की तरह भाव और प्रस्तुतीकरण में रंगों का अनूठा प्रयोग ...आपका आभार

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर फ़ागुनी गीत , बिम्बों का प्रयोग बहुत ही ख़ूबसूरती से किया गया है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत अच्छा लिखा आपने .

    आपको होली की सपरिवार हार्दिक शुभ कामनाएं!

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  9. साबुनी- झाग भरे हाथ
    झिलमिलाते रहे इन्द्रधनुषी

    सिंक में बर्तनों की खडखडाहट
    बन गयी गीत फागुनी

    होली में तुकबंदी नहीं रंगों की झिलमिलाहट होनी चाहिए जो बखूबी इस रचना में है ...बर्तनों की खडखडाहट में भी संगीत की गूंज ...बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति ...होली मुबारक हो

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुंदर अभिव्यक्ति
    आप सभी को होली की हार्दिक शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  11. सुन्‍दर भावमय करते शब्‍द ...होली की शुभकामनाएं ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. होली की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  13. अरे वाह आपने तो सतरंगी रंगों से सजा डाली कविता...बहुत खूब.
    होली मुबारक हो .

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत रंगभरी रचना..होली की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  15. सुन्दर पन्तिया
    आपको होली की बहुत सारी शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत सुन्दर रचना!
    --
    उनको रंग लगाएँ, जो भी खुश होकर लगवाएँ,
    बूढ़ों और असहायों को हम, बिल्कुल नहीं सताएँ,
    करें मर्यादित हँसी-ठिठोली।
    आओ हम खेलें हिल-मिल होली।।
    --
    होलिकोत्सव की शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  17. आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार (19.03.2011) को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.blogspot.com/
    चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

    उत्तर देंहटाएं
  18. होली की हार्दिक शुभकामनाएँ, सुन्दर रचना

    उत्तर देंहटाएं
  19. Sundar rachana!
    Holee kee dheron shubhkamnayen!
    Kabhee mere blog pe bhee padharen! Bahut khushee hogee!

    उत्तर देंहटाएं
  20. बड़ी रंग भरी रचना है ! रंगपर्व की अशेष शुभकामनायें :)

    उत्तर देंहटाएं
  21. आप को होली की हार्दिक शुभकामनाएं । ठाकुरजी श्रीराधामुकुंदबिहारी आप के जीवन में अपनी कृपा का रंग हमेशा बरसाते रहें।

    उत्तर देंहटाएं
  22. हफ़्तों तक खाते रहो, गुझिया ले ले स्वाद.
    मगर कभी मत भूलना,नाम भक्त प्रहलाद.

    होली की हार्दिक शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  23. रंग और शब्द का सुंदर संयोजन

    सुरक्षित , शांतिपूर्ण और प्यार तथा उमंग में डूबी हुई होली की सतरंगी शुभकामनायें ।

    उत्तर देंहटाएं
  24. आप को सपरिवार होली की हार्दिक शुभ कामनाएं.

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  25. tyohaar ka aanand har tarah se liya jaata hai ,alag andaj ki rachna jo bahut sundar hai .

    उत्तर देंहटाएं
  26. रंग-रंगीली होली मुबारक

    उत्तर देंहटाएं
  27. इस इन्द्रधनुषी पर्व पर हर रंग आपके जीवन में शामिल हो . होली की हार्दिक शुभकामनाये .

    उत्तर देंहटाएं
  28. अच्छी रंग बिरंगी कविता..
    होली की हार्दिक शुभकामनाये..!

    उत्तर देंहटाएं
  29. होली की हार्दिक शुभकामनाए. एक सुन्दर कविता.

    उत्तर देंहटाएं
  30. होली पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएँ|

    उत्तर देंहटाएं
  31. वाह, स्वरों की सुंदर जुगलबंदी है. बहुत लाजवाब.

    होली पर्व की घणी रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  32. सरल, सहज, हृदय से निकली कविता !होली की बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  33. प्रिय वाणी जी
    रंग भरा स्नेह भरा अभिवादन !

    रंगारंग प्रस्तुति है आज तो … :)
    बहुत ख़ूब !
    आपने मना किया है तो कविता में लय , बह्र , तुकबंदी कुछ नहीं ढूंढ़ते … :) वैसे रचना प्रभाव छोड़ती है

    हार्दिक बधाई !


    ♥ होली की शुभकामनाएं ! मंगलकामनाएं !♥

    होली ऐसी खेलिए , प्रेम का हो विस्तार !
    मरुथल मन में बह उठे शीतल जल की धार !!


    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  34. kavita to Man ki Bhasha hai..abhivyakti ke liye tukbandi aur laybaddhata ka hona zaruri nahin...aapne to jo saman baandha wo holi ke chatak rang se bhi nirala...

    badhayee.

    उत्तर देंहटाएं
  35. are wah........kavita ne to sachmuch asar kar diya.

    badhai....

    उत्तर देंहटाएं
  36. नवसंवत्सर की हार्दिक शुभकामनाएँ|

    उत्तर देंहटाएं
  37. नव-संवत्सर और विश्व-कप दोनो की हार्दिक बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  38. गालों के भंवर मुस्कुराते रहे गुलाबी

    सिलबट्टे पर चढ़े रहे मेंहदी हरिआयी


    छोटी छोटी क्षणिकाएं व् ये रंग -बिरंगी रचना आप की -मन को छू गयीं -सुन्दर प्रस्तुति के लिए बधाई हो

    हिंदी के बढ़ावा के लिए हम भी आप सब के साथ चल पड़े हैं आयें भ्रमर के दर्द और दर्पण में समर्थन व् अपना मार्गदर्शन दें

    सुरेन्द्र कुमार शुक्ल भ्रमर५

    उत्तर देंहटाएं
  39. अरे वाह ! रंगों भावनाओं और शब्दों का अनूठा संयोजन ! नव सम्वत्सर की बधाई |

    उत्तर देंहटाएं
  40. नई पोस्ट की प्रतीक्षा है…


    आपकी इस रचना का रसपान एक बार फिर किया है ……
    बहुत भाव पूर्ण लिखा है आपने …!

    अच्छी रचना के लिए आभार !

    गणगौर पर्व और नवरात्रि उत्सव की शुभकामनाएं !

    साथ ही…

    *नव संवत्सर की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !*

    नव संवत् का रवि नवल, दे स्नेहिल संस्पर्श !
    पल प्रतिपल हो हर्षमय, पथ पथ पर उत्कर्ष !!

    चैत्र शुक्ल शुभ प्रतिपदा, लाए शुभ संदेश !
    संवत् मंगलमय ! रहे नित नव सुख उन्मेष !!


    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  41. vaani ji
    satrangi indr -dhnushi rango ki sapurn khoobsurati aapki is rachna me utar aai hai .
    aapne badi hi sundarta ke saath sundar shabdo ka pryog karte hue holi ke pawan parv ko char chaand laga diye hain.
    bahut hi rag-birangi chhta bekher gai hai aapki rachna.
    bahut bahut badhai
    vilamb se tippni de rahi hun iske liye hriday se xhma chati hun.
    karan asvsthata hi rahi hai .koshish kar rahi hun punah aap sbhi ke blog tak pahunch sakun
    punah bdhai bdhiya prastuti ke liye
    dhanyvaad sahit
    poonam

    उत्तर देंहटाएं
  42. बहुत ही अच्छे शब्दों का मिश्रण !हवे अ गुड डे ! मेरे ब्लॉग पर आये !
    Music Bol
    Lyrics Mantra
    Shayari Dil Se
    Latest News About Tech

    उत्तर देंहटाएं
  43. आपकी ये रचना कल 6 - 3 - 2012 नई-पुरानी हलचल पर पोस्ट की जा रही है .... ! आपके सुझाव का इन्तजार रहेगा .... !!

    उत्तर देंहटाएं
  44. बेहद सुन्दर रंग भरी प्रस्तुति....

    आपकी होली शुभ हो...

    उत्तर देंहटाएं
  45. बहुत सुन्दर रचना
    होली पर्व कि आपको हार्दिक शुभकामनाएँ ....

    उत्तर देंहटाएं